Ambe Tu Hai Jagdambe Kali Arti Lyrics

Share This Post:

Ambe Tu Hai Jagdambe Kali Arti Lyrics” sung by Anuradha Paudwal represents the Religious Music Ensemble. The name of the song is Ambe Tu Hai Jagadambe.

Ambe Tu Hai Jagdambe Kali Arti Lyrics

कोई भी पूजा बिना आरती के अधूरी है। नवरात्रि के इस पावन पर्व में माता भगवती की आरती आप भी पढ़ें। संपूर्ण पूजा के बाद आरती को जोर-जोर से गाकर पढ़ना चाहिए। 

अम्बे तू है जगदम्बे काली,
जय दुर्गे खप्पर वाली,
तेर ही गुण गायें भारती,
ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती ।

तेर भक्त जानो पर मैया भीड़ पड़ी है भारी,
दानव दल पर टूट पड़ो माँ कर के सिंह सवारी ।
सो सो सिंघो से है बलशाली,
है दस भुजाओं वाली,
दुखिओं के दुखड़े निवारती ।

माँ बेटे की है इस जग में बड़ा ही निर्मल नाता,
पूत कपूत सुने है पर ना माता सुनी कुमाता ।
सबपे करुना बरसाने वाली,
अमृत बरसाने वाली,
दुखिओं के दुखड़े निवारती ।

नहीं मांगते धन और दौलत ना चांदी ना सोना,
हम तो मांगे माँ तेरे मन में एक छोटा सा कोना ।
सब की बिगड़ी बनाने वाली,
लाज बचाने वाली,

सतिओं के सत को सवारती ।
ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती ।

Video Song

This was the lyrics of the song Ambe Tu Hai Jagdambe Kali Arti by Anuradha Paudwal.

If you have any suggestion or correction in the Lyrics, Please contact us or comment below.

Share This Post:

Leave a Comment